फैज़ल खान का खुलासा- ‘मेला’ फ्लॉप होने के बाद आमिर घर ले आए पुलिस, बताया कभी नहीं की मेरी मदद!

0
230

दोस्तों बॉलीवुड के मिस्ट पर्फेक्निस्ट आमिर खान के छोटे भाई फैजल खान सालों बाद फिल्मों में कमबैक करने वाले हैं। वहीं इन दिनों वह अपनी अपकमिंग फिल्म फैक्ट्री को लेकर खूब चर्चा में बने हुई है जिससे वह बतौर डायरेक्टर डेब्यू करने जा रहे हैं। फैज़ल खान ने बताया कि आमिर खान ने उन्हें खराब ऐक्टर बताकर कोई और करियर ऑप्शन तलाश करने की सलाह दे चुके थे। यह बात पुरानी है, जब वह आमिर और ट्विंकल के साथ फिल्म ‘मेला’ में नजर आए थे। फैज़ल ने वो किस्सा भी सुनाया जब आमिर पुलिस और डॉक्टर्स की फौज लेकर उनके घर पहुंच गए थे।

फिल्म ‘मेला’ के फ्लॉप होने के बाद का किस्सा फैजल ने सुनाया। फिल्म ‘फैक्ट्री’ की रिलीज़ से पहले रौनक कोटेजा के इंटरव्यू में फैजल से पूछा गया कि क्या जब उनकी फिल्म ‘मेला’ फ्लॉप हुई थी और वह रोल के लिए इधर-इधर भटक रहे थे तो आमिर खान ने उनकी कोई मदद की? फैज़ल ने सीधे-सादे अंदाज में कहा- आमिर इस सवाल का जवाब देने के लिए बेस्ट पर्सन है। फैज़ल ने उस दौरान की चर्चा करते हुए कहा, ‘उन्होंने मेरी कोई मदद नहीं की। आज फैक्ट्री के साथ मुझे अपनी ताकत का एहसास हुआ है। किसी को आपकी मदद भला क्यों करनी चाहिए?’ फैज़ल ने बताया, ‘फिल्म मेला के बाद आमिर ने मुझे कॉल किया और कहा था- फैज़ल, तुम अच्छे ऐक्टर नहीं हो, अब मेला भी फ्लॉप हो गई, अब क्या? अब तुम्हें लाइफ में कुछ और काम देखना चाहिए।’ फैज़ल ने कहा कि आमिर ने उनसे कहा कि उन्हें नहीं लगता कि वह (फैज़ल) एक ऐक्टर हैं।

फैज़ल ने बताया, ‘आमिर ने मुझे कहा कि तुम अच्छे ऐक्टर नहीं हो, तुम ऐक्ट नहीं कर सकते। इसलिए तुम कोई और काम शुरू करो, तुम्हें इस बारे में सोचना चाहिए कि लाइफ में तुम्हें क्या करना है। जब आमिर को लगता था कि मैं अच्छा ऐक्टर नहीं हूं और अच्छा परफॉर्म नहीं कर सकता हूं तो मैं उनसे काम के लिए कैसे कह सकता था, कोई मदद के लिए कैसे कहता?’ फैज़ल ने बताया, ‘एक भाई होने के नाते मैंने आमिर को हमेशा सपोर्ट किया है। आमिर ने जो भी सफलता पाई है, उसे लेकर मैं हमेशा खुश हूं। मैं सड़क पर खड़ा होकर वड़ा पाव खाने वालों में से हूं, मेरा मन होता है तो मैं ऑटो से चलता हूं, मैं अपनी लाइफ इस तरह जीता हूं। मुझे आमिर की सफलता से कभी ईर्ष्या नहीं हुई।’

अपने मेंटल हेल्थ वाले इशू पर बातें करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं अपनी फैमिली से मिलना बंद कर दिया था क्योंकि हमारे बीच कुछ बातों को लेकर डिफरेंसेस थे। उनसे लड़ने की बजाय मैंने खुद को अलग कर कर लिया, क्योंकि कई बार दूरियां भी चीजों को सही कर देती हैं।’ उन्होंने आगे कहा, ‘मैं अलग हुआ तो उन्हें लगा कि ये फैमिली से अलग हो गया, इसको क्या हो गया। फैमिली अपसेड हो गई, उन्होंने कहा- ये फैमिली को नहीं मिल रहा यानी पागल हो गया है। इसके बाद एक दिन आमिर खान मेरे घर पर आए, उनके साथ पुलिस और डॉक्टर्स भी थे। वह काफी समय से मुझे कह भी रहे थे कि फैज़ल तुम ठीक नहीं हो। आमिर खान आकर बोले तुम सिजोफ्रेनिया के शिकार हो, सब पर शक करते रहतो हो। मैंने कहा- मैं किसी पर शक नहीं करता।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Faissal Khan (@faissal.khan)

आमिर ने कहा- फैजल यदि अभी तुम मेरे साथ नर्सिंग होम नहीं चले तो यहां डॉक्टर हैं, ये तुम्हें इंजेक्शन लगाएंगे और बेहोश करके तुम्हें लेकर जाएंगे। मैंने कहा, ये सब करने की जरूरत नहीं हो, चलो मैं ऐसे ही चलता हूं। मुझे लगा वे मेरा कुछ टेस्ट वगैरह करेंगे और छोड़ देंगे। आप पुलिस के साथ रस्सी लेकर, डंडे लेकर आ रहे हो कोज़ी नर्सिंग होम में लेकर गए, ये पूरी तरह से गैर कानूनी ऐक्टिविटी थी। इसकी जरूरत नहीं थी।’उन्होंने आगे कहा, ‘मेरा फोन ले लिया गया था। उन्होंने वहां मुझे कैद कर लिया। वे पानी में मेडिसीन दिया करते थे, जो टेस्टलेस होता था और मैं 20-20 घंटे सोने लगा। तब मुझे लगा कि अरे ये तो गड़बड़ हो गया। मुझे लगा कि ओवरडोज़ होगा तो मेरी जान भी जा सकती है। मैंने अपनी बहन को फोन किया और बताया कि मुझे दवा दो, मैं लूंगा लेकिन कोई मॉनिटर तो करे कि कितनी दी जा रही है। इसके बाद 20 दिनों के बाद उन्होंने कहा कि अब आप थोड़ा बेहतर हो, घर जा सकते हो।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here