राम से लेकर श्री कृष्ण तक रामायण और महाभारत में नज़र आने वाले ये सितारे आज़मा चुके है राजनीति हाथ!

0
232

दोस्तों बॉलीवुड और टीवी जगत के कई सितारे रहे है जो राजनीति को और अपना कदम बढ़ा चुके है। वहीं आज के समय में बहुत से सितारे ऐसे है जो इंडस्ट्री में सक्रिय रहते हुए राजनीति की गलियो में जा रहे हैं। हाल ही में रामायण में श्रीराम का किरदार निभाने वाले मशहूर अभिनेता अरुण गोविल राजनीति में चले गए हैं। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अरुण गोविल ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। हालांकि उनके अलावा रामायण और महाभारत के कई ऐसे सितारे हैं जो टीवी छोड़ राजनीति की राह पकड़ चुके हैं।

अरुण गोविल

रामायण में श्रीराम का किरदार निभाकर घर घर मशहूर हुए अरुण गोविल हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए हैं। उन्हें बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की सदस्यता दिलाई गई है। बता दें कि लॉकडाउन के वक्त जब रामायण दोबारा टीवी पर प्रसारित हुआ था तो अरुण गोविल की लोकप्रियता फिर बढ़ गई थी।

दारा सिंह

रामायण में हनुमान का किरदार निभाकर दारा सिंह ने दर्शकों को अपना फैन बना लिया था। उन्हें हनुमान के किरदार में देखकर लोग उनकी पूजा करने लगे थे। दारा सिंह कभी राजनीतिक दल से नहीं जुड़े, लेकिन वो बीजेपी के मनोनीत सदस्य जरूर बने थे। उन्हें बीजेपी ने राज्यसभा भेजा था।

दीपिका चिखलिया

रामायण की सीता यानी दीपिका चिखलिया भी बीजेपी की टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ चुकी हैं। इसमें उन्हें जीत भी हासिल हुई थी। दीपिका ने गुजरात की वडोदरा सीट से 1991 में लोकसभा चुनाव लड़ा था।

अरविंद त्रिवेदी

रामायण में रावण का किरदार निभाने वाले अरविंद त्रिवेदी भी बीजेपी का हिस्सा थे। उन्होंने 1991 में गुजरात के साबरकांठा से लोकसभा चुनाव लड़े थे और जीते भी थे। इसके बाद उन्होंने 2002 में जीत भी हासिल की थी।

गजेंद्र चौहान


महाभारत में युधिष्ठिर का किरदार निभाने वाले गजेंद्र चौहान भी बीजेपी का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने साल 2004 में बीजेपी की सदस्यता ली थी। इसके बाद पार्टी ने उन्हें 2015 में फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया का चेयरमैन नियुक्त किया गया था।

नीतीश भारद्वाज

पर्दे पर श्रीकृष्ण का किरदार निभाने वाले नीतीश भारद्वाज को हमेशा ही भगवान माना गया। नीतीश भी बीजेपी का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने बीजेपी की टिकट से झारखंड के जमशेदपुर से 1996 में चुनाव लड़ा था। साथ ही उन्होंने जीत भी हासिल की थी। हालांकि पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह से हार मिलने के बाद वो राजनीति से दूर हो गए।

रुपा गांगुली

महाभारत मे द्रौपदी बन लोगों को अपनी अदाकारी का फैन बनाने वाली रुपा गांगुली राजनीति जगत में काफी सक्रिय हैं। रुपा गांगुली अभी राज्यसभा की मनोनीत सदस्य हैं। पिछले विधानसभा में उन्होंने हावड़ा नॉर्थ से चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें जीत नहीं मिली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here