18 सेकंड में 325 तरीके से साड़ी पहनाने का हुनर है डॉली जैन में, अंबानी परिवार की लेडीज भी इनकी क्लाइंट!

0
80

दोस्तों भारतीय संस्कृति में महिलाओं के लिए साड़ी को एक बेहद मुख्य परिधान के रूप में स्थान मिला हुआ है। और यही कारण है कि आज हमारे भारत के लगभग सभी राज्यों में महिलाओं को साड़ी पहनते देखा जाता है। जब भी किसी एक्ट्रेस को साड़ी पहने देखते हैं तो सबसे पहले दिमाग में ख्याल आता है कि वाह क्या साड़ी बांधी है, साड़ी की चौंटों से लेकर पल्लू को डिफरेंट तरीके से कैरी करने का हर तरीका हमें इंप्रेस कर लेता है, लेकिन आपको बताते हैं कि एक्ट्रेस को स्टाइलिश साड़ी पहनाने का काम डॉली जैन का है जो एक नहीं करीब 325 तरीके से साड़ी पहना सकती हैं। देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी से लेकर दीपिका पादुकोण तक उनकी रैगुलर कस्टमर्स हैं।

अपने इसी हुनर को लेकर डॉली जैन काफी फेमस हैं और उन्होंने Draping a Saree in 125 ways, Limca Book Of Records, 2011 Fastest Saree Draping, Book of World Records, 2011Coca Cola Award, 2015Sashakt Nari Samman जैसे कई अवार्ड अपने नाम किए हैं और तो और अब तो डॉली की साड़ी बांधने की स्पीड भी ऐसी हैं कि सैकंडों में यह काम पूरा करती हैं। डॉली जैन का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी दर्ज है। जहां पहली बार उन्होंने 80 तरह से साड़ी बांधकर रिकॉर्ड बनाया फिर अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ते हुए उन्होंने 325 स्टाइल में साड़ी पहनने और बांधने का नया रिकॉर्ड बनाया और साथ ही एक साड़ी को साढ़े 18 सेकंड में पहनने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया।

आज वह फैशन इंडस्ट्री के बड़े डिजाइनर्स जैसे सब्यसाची से लेकर मनीष मल्होत्रा के क्लाइंट्स व बॉलीवुड की ज्यादातर एक्ट्रेस को साड़ी और लहंगा पहनाती हैं। साड़ी पहनाने को अपना प्रोफेशन बनाने वाली डॉली का कहना है कि इस काम को वो लड़कियां भी अपना पेशा बना सकती हैं जो कम पढ़ी लिखी हैं क्योंकि अगर आप 10वीं भी पास हैं तो बहुत है इसके लिए ज्यादा पढ़े-लिखे होने की जरूरत नहीं है। इसी प्रोफेशन की बदौलत आज डॉली एक बड़ी टीम चला रही हैं। डॉली की साड़ी बांधने की फीस 35 हजार से शुरू होती है और हाई प्रोफाइल शादियों और उनके कार्यक्रमों में ये फीस लाखों रुपयों तक जाती है।

फैशन लाइन में आने से पहले डॉली एक आम लाइफस्टाइल जीती थी…डॉली को कभी भी साड़ी पहननी पंसद नहीं थी । उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि , ‘ वो बंगलौर में पली बढ़ी हैं और वो हमेशा से ही जीन्स यां वेस्टर्न पहनती थी और उन्हें साड़ी पहनना बिल्कुल पंसद नहीं था लेकिन उनकी शादी एक ऐसे घर में हुई जहां सिर्फ साड़ी पहनने की अनुमति थी। जब डॉली को ये पता चला कि उसके ससुराल में सिर्फ साड़ी पहनी जाती है वह कई बार रोने लग जाती थी कि क्योंकि डॉली को तब साड़ी पहनने में घंटों लग जाते थे ….लेकिन शायद डॉली इस बात से अनजान थी कि यही चीज उनकी पूरी जिंदगी बदल देगी और एक दिन वो इतनी फेमस हो जाएंगी कि अंबानी लेडीज उनकी कस्टमर होगी। बस धीरे-धीरे डॉली ने साड़ी बांधना सीखा और फिर वो हर बार एक नए स्टाइल को साड़ी में शामिल करने लगी। जब भी वह किसी फंक्शन में जाती तो लोग उनके साड़ी बांधने के स्टाइल की बेहद तारीफ करते, जिससे डॉली का इंटरस्ट इसमें बढ़ने लगा और फिर उन्होंने अपने इसी हुनर को अपना प्रोफेशन बनाने की सोची।

एक मेरिज फंक्शन में उन्होंने हिस्सा लिया जहां उन्होंने डिजाइनर संदीप खोसला के डिजाइन किए ब्राइड्स दुपट्टों को स्टाइल करने का काम डॉली ने किया। डिजाइनर संदीप को  डॉली का काम पसंद आया बस फिर वह डॉली को अपने साथ कई शोज में ले जाया करते। हालांकि डॉली ने प्रोफेशनली काम तो डिजाइनर संदीप के साथ शुरू किया हो लेकिन इस काम में आगे बढ़ने की असल प्ररेणा उन्हें स्वर्गीय एक्ट्रेस श्रीदेवी ने दी थी। दरअसल एक इंवेट में डॉली श्रीदेवी को साड़ी पहना रही थी जिसके बाद श्रीदेवी ने उन्हें सुझाव दिया कि डॉली को इसे अपने करियर के रूप में चुनना चाहिए। इसके बाद डॉली ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और 15 सालों में डॉली ने अपनी कड़ी मेहनत से सफलता की उंचाइयों को चूम लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here