नहीं रहे भजन सम्राट नरेंद्र चंचल, इनके भजन के बिना अधूरी रहती थी माँ दुर्गा की पूजा , महफ़िलो में रहता था इनका जलवा!

0
68

दोस्तों साल 2020 में कई कलाकारों ने इस दुनिया को अलविदा कहा था वही साल 2021 की शुरूआत में ही एक दुख भरी खबर सामने आ गई। भजन सम्राट नरेंद्र चंचल का दिल्ली के अपोलो अस्पताल में निधन हो गया । वह 80 साल के थे। नरेंद्र चंचल पिछले तीन महीने से बीमार थे और उनका इलाज चल रहा था। नरेंद्र चंचल ने बहुत से भजन और हिंदी फिल्म में गीत गाए थे। उनके गीत के बिना हर दुर्गा पूजा अधूरी होती थी।

बता दें कि नरेंद्र चंचल का कोरोनाकाल का गाना भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। इस गाने के बोल थे ‘डेंगू भी आया और स्वाइन फ्लू भी आया, चिकनगुनिया ने शोर मचाया, कित्थे आया कोरोना’? ये उनके जीवन का आखिरी गाना था। नरेंद्र चंचल ने बचपन से ही अपनी मां कैलाशवती को मातारानी के भजन गाते हुए सुना। इसी वजह से उनकी रुचि भी गायकी में बढ़ी। उनके शरारती स्वभाव और चंचलता की वजह से उनके शिक्षक उन्हें ‘चंचल’ कहकर बुलाते थे। बाद में नरेंद्र ने अपने नाम के साथ हमेशा के लिए चंचल जोड़ लिया। नरेंद्र चंचल ने भजन के साथ-साथ बॉलीवुड में भी कई गाने गाए थे। उनका भजन तुने मुझे बुलाया शेरावालिये…..आज भी लोगों के दिल दिमाग में बसा हुआ है। उनके भजन और गाने कुछ ऐसे थे कि उन्हें भजन सम्राट की उपाधि दी गई थी।

नरेंद्र चंचल ने बॉलीवुड की भी कई फिल्मों में गाने गाए थे। ऋषि कपूर और डिंपल कपाड़िया की सुपरहिट फिल्म बॉबी में नरेंद्र चंचल ने पहली बार फिल्मी गाना गाया था। इस गाने का नाम था ‘बेशक मंदिर मस्जिद तोड़ो…..’। इस गाने ने लोगों का मन मोह लिया था। साथ ही चंचल ने बेनाम फिल्म का गाना ‘मैं बेनाम हो गया’ गाया था जो कि जबरदस्त हिट हुआ था। नरेंद्र चंचल का भजन ‘भोर भई दिन चढ़ गया मेरी अंबे’ भी बहुत प्रसिद्ध हुआ था। इसके अलावा महेंद्र कपूर के साथ गाया उनका गाना ‘आजा मां तैनू आंखिया’ उदिक दियां आज भी लोगों की जुबान पर है।

उन्होंने लता मंगेशकर के साथ ‘रोटी कपड़ा और मकान’ फिल्म में ‘बाकी कुछ बचा तो मंहगाई मार गई’ जैसे सुपरहिट गाना गाया। नरेंद्र चंचल ने अपने समय के कई दिग्गज गायकों के साथ सुर में सुर मिलाया था। लता मंगेशकर के अलावा उन्होंने मोहम्मद रफी के साथ आशा फिल्म का ‘तुने मुझे बुलाया शेरावालिये’ और आशा भोसले के साथ ‘चलो बुलावा आया है’… जैसे शानदार गाने गाए।

वही 90 के दशक के पॉपुलर सिंगर कुमार शानू के साथ भी नरेंद्र चंचल ने ‘हुए वो कुछ ऐसे पराए’ जैसे बेहतरीन गाने में आवाज दी थी। बॉलीवुड में नरेंद्र चंचल के गाने गाने का सफर मोहम्मद रफी, लता मंगेशकर से होता हुआ कुमार शानू तक पहुंच गया था। नरेंद्र चंचल का गाना ‘भरलो झोलिया’ और ‘रण में कूद गई महाकाली’ भी बहुत प्रसिद्ध हुआ था। इसके अलावा ‘भावन में रंग बरसे’ और ‘राम से बड़ा राम का नाम’ भजन भी खूब लोकप्रिय हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here