बाबा का ढाबा: ‘धोखाधड़ी’ मामले पर आर माधवन ने दी प्रतिक्रिया, बोले- अगर यह झूठा आरोप है तो हमें स्वीकार करना चाहिए!

0
138

दोस्तों साउथ दिल्ली के मशहूर ‘बाबा का ढाबा’ के मालिक कांता प्रसाद ने यूट्यूबर गौरव वासन के खिलाफ ‘उनकी और उनकी पत्नी की मदद के लिए जुटाए गए धन के साथ कथित हेराफेरी’ करने के आरोप में शिकायत दर्ज कराई है। बता दें कि गौरव ने ही पिछले महीने इस ढाबे का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर इसे वायरल कराया था।

अब इस शिकायत पर लोकप्रिय अभिनेता आर माधवन ने प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि इन्हीं चीजों की वजह से लोगों को कुछ ‘अच्छा ना करने का बहाना’ मिलता है। इसे ‘अस्वीकार्य’ बताते हुए, उन्होंने कहा कि विश्वास तभी वापस आएगा ‘जब कथित धोखाधड़ी करने वाले लोगों को पकड़कर सजी दी जाएगी।’ साथ ही दिल्ली पुलिस को टैग करते हुए, अभिनेता ने कहा, ‘आप पर पूरा भरोसा है’।

माधवन ने यह भी कहा कि वह “इस बात से पूरी तरह से सहमत हैं कि गौरव वासन ने वास्तव में बुजुर्ग दंपति की दुर्दशा को सबके सामने लाकर कमाल का काम किया है। अगर यह झूठा आरोप है तो हमें स्वीकार करना चाहिए और गौरव की और सराहना करनी चाहिए और मैं करुंगा।” “एक केस दायर किया गया है और कोई बदमाशी कर रहा है। हमें ये पता लगाना है कि ऐसा कौन कर रहा है ताकि अच्छे लोग जो अच्छा करने आए हैं, वो ऐसा करना पूरी तरह से रोक ना दें। यहां कोई सोशल मीडिया ट्रायल ना करें। दिल्ली पुलिस को तह तक जाने दें। हम सभी अच्छा करना जारी रखना चाहते हैं।”

पुलिस को दी गई अपनी शिकायत में 80 वर्षीय प्रसाद ने कहा है कि ‘गौरव ने उनका वीडियो शूट करके ऑनलाइन पोस्ट किया और सोशल मीडिया पर जनता को उन्हें पैसे देने की अपील की।’प्रसाद ने कुछ लोगों के साथ शनिवार को मालवीय नगर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई जिसमें दावा किया गया है कि ‘गौरव ने जानबूझकर अपने परिवार की बैंक डिटेल्स साझा की और दान के रूप में एक बड़ी राशि इकट्ठा कर ली।’ डीसीपी (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर का कहना है कि, ‘हमें कल शिकायत मिली थी और इस बारे में पूछताछ कर रहे हैं।’ अभी तक कोई FIR दर्ज नहीं की गई है।

हालांकि, गौरव ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को ठुकरा दिया है और कहा है कि ‘उन्होंने सारा पैसा प्रसाद के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया है।’ उन्होंने फेसबुक पर लेन-देन की तीन रसीदें भी साझा की जो 27 अक्टूबर की है। 1,00,000 रुपये और 2,33,000 रुपये के दो चेक और 45,000 रुपये के बैंक पेमेंट की एक रसीद थी। उन्होंने कहा कि ‘यह तीन दिनों में एकत्रित धनराशि थी।’ वासन ने फेसबुक पर एक बैंक स्टेटमेंट भी डाला, जिसमें तीन दिनों में जमा कुल धनराशि लगभग 3.5 लाख रुपये है। साथ ही उन्होंने कहा कि ‘जिन जिन लोगों ने दान दिया है, वो जाकर चेक कर सकते हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here