सैफ ने करियर खतरे में देख मांगी माफी, बयान भी वापस लिया, अभिनेता ने सीता हरण को बताया था सही!

0
48

दोस्तों फिल्म निर्देशक ओम राउत की फिल्म ‘आदिपुरुष’ पर घिरे संकट के बादल भले अभिनेता सैफ अली खान के अपना बयान वापस ले लेने से कुछ दिनों बच गए हो, लेकिन हिंदी फिल्म जगत में चर्चा यही है कि इस फिल्म को पूरा करना और फिर इसे दर्शकों तक अपनी ओरिजनल प्लानिंग के हिसाब से ओम राउत के लिए आसान नहीं होगा। ओम राउत ये फिल्म टी सीरीज के साथ मिलकर बना रहे हैं, जिसके मालिक भूषण कुमार पर महिलाओं के साथ दुर्व्यहार के आरोप भी लग चुके हैं।

ओम राउत अपनी फिल्म की शूटिंग अयोध्या से शुरू करना चाहते थे, इसी चक्कर में बताते हैं वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने लखनऊ तक आए। लेकिन, नई फिल्मसिटी को लेकर हुई इस पहली बैठक का फिल्म इंडस्ट्री में ही जमकर विरोध हुआ और तकरीबन हर फिल्म निर्माता संगठन ने इसे फिल्म सिटी बनाने की एक गलत शुरूआत बताया। इसी के बाद योगी आदित्यनाथ ने बड़े प्रशासनिक फेरबदल में सूचना विभाग की जिम्मेदारी वरिष्ठ आईएएस अफसर अवनीश अवस्थी से लेकर नवनीत सहगल को दे दी।

ओम राउत की राइटिंग टीम के कुछ लोगों ने उनका संपर्क उत्तर प्रदेश सरकार से कराया था और इसी राइटिंग टीम के दिमाग की उपज बताया जा रहा है वह बयान जो सैफ अली खान ने उनकी फिल्म ‘आदिपुरुष’ को लेकर दिया। इस बयान में सैफ अली खान ने फिल्म में अपने किरदार यानी रावण की गतिविधियों को न्यायसंगत ठहराने की कोशिश की थी। लेकिन, इसके लिए सोशल मीडिया पर न सिर्फ सैफ का जमकर विरोध हुआ बल्कि उन्हें फिल्म से निकाले जाने की मांग तक उठने लगी।

अमिताभ बच्चन के साथ बनी अपनी फिल्म ‘झुंड’ को लेकर पहले ही कोर्ट कचहरी का चक्कर काट रही कंपनी टी सीरीज इन दिनों बहुत ही संवेदनशील समय से गुजर रही है। अब ‘आदिपुरुष’ में रावण के किरदार के महिमामंडन को लेकर मचे बवाल से टी सीरीज सकते में हैं। सूत्र बताते हैं कि उसके प्रबंधन ने फिल्म के निर्देशक ओम राउत के साथ इस मसले पर राय मशविरा भी किया। कई दौर की इस बातचीत के बाद सैफ अली खान से भी उनके बयान को लेकर बात हुई और तय

यही पाया गया कि फिल्म की राइटिंग टीम के इनपुट को आगे से बहुत ही सावधानी के साथ सोशल मीडिया या इंटरव्यू आदि में इस्तेमाल किया जाएगा। फिल्म ‘आदिपुरुष’ की राइटिंग टीम के इससे पहले के वी विजयेंद्र प्रसाद की उस महात्वाकांक्षी फिल्म से भी जुड़े रहने की बात सामने आई है, जिसमें शिवाजी से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक की कहानी कही जानी थी। लेकिन, फिल्म के संवेदनशील विषय को देखते हुए किसी भी फिल्म निर्माता कंपनी ने इसमें पैसे लगाने से मना कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here