संजय दत्त के लिए पहली पत्नी ऋचा शर्मा के छोड़ा दिया थी फिल्म इंडस्ट्री, पर आखरी समय में नहीं मिला संजू का साथ!

0
60

दोस्तों बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त फिल्म जगत के जाने माने अभिनेता है हाल ही में उन्होंने कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी को मत दी है। संजय दत्त अक्सर अपनी निजी ज़िंदगी को लेकर काफी चर्चाओं में रहे है।साथ ही अभिनेता की जिंदगी काफी विवादित भी रही है। संजय दत्त ने तीन शादिया की है संजय की पहली पत्नी का नाम ऋचा शर्मा था। वे भारत एक अभिनेत्री बनने आई थीं। लेकिन उन्हें अभिनेता से प्यार हो गया और फिर दोनों की शादी हो गई। लेकिन 32 साल की उम्र में ऋचा इस दुनिया को छोड़कर चली गई थीं। 10 दिसंबर को उनकी पुण्यतिथि है।

बता दे की ऋचा शर्मा का जन्म 6 अगस्त 1963 को न्यूयॉर्क में हुआ था। वह देव आनंद की फिल्म में हीरोइन बनने आई थीं लेकिन उम्र कम होने की वजह से उन्हें काम नहीं मिल पाया। हालांकि देव आनंद ने उन्हें अपनी अगली फिल्म में मौका दिया जिसका नाम था ‘हम नौजवान’। ये फिल्म साल 1985 में रिलीज हुई थी। इसके बाद वह ‘अनुभव’, ‘इंसाफ की आवाज’, ‘सड़क’ छाप जैसी फिल्मों में नजर आईं। ऋचा शर्मा की आखिरी फिल्म ‘आग ही आग’ थी जो साल 1987 में आई थी। इसी फिल्म के दौरान उनकी मुलाकात संजय दत्त से हुई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, संजय दत्त ने पहली बार ऋचा की तस्वीर एक लोकल मैग्जीन में देखी थी। तस्वीर देखते वो अपना दिल हार बैठे थे। फिल्म ‘आग ही आग’ की शूटिंग के दौरान संजय ने उन्हें प्रपोज कर दिया था। ऋचा ने भी उन्हें हां कह दी। कहा ये भी जाता है कि संजय चाहते थे कि ऋचा शादी के बाद फिल्मों में काम ना करें। हालांकि शादी के बाद उन्होंने किसी भी फिल्म में काम नहीं किया। संजय दत्त और ऋचा शर्मा ने शादी कर ली। दोनों खुशहाल जिंदगी जी रहे थे लेकिन दो साल बाद ऋचा को ब्रेन ट्यूमर हो गया। वह इलाज के लिए विदेश चली गईं।

इस बीच माधुरी दीक्षित के साथ उनकी करीबियां बढ़ने लगीं और ऋचा से वे दूर होते चले गए।ऋचा बीच में ठीक हो गई थीं और भारत लौटकर एक बार फिर से संजय दत्त के साथ अपनी नई जिंदगी शुरू करना चाहती थीं, लेकिन शायद तब तक सब बदल चुका था। संजय अपनी दूसरी जिंदगी में व्यस्त हो चुके थे।

एक इंटरव्यू में ऋचा की बहन एना ने कहा था कि संजय दत्त अपनी पत्नी एयरपोर्ट पर रिसीव करने तक नहीं आए, जबकि उन्होंने संजय को दो बार फोन किया था। वह 15 दिन भारत में रहने के बाद फिर से न्यूयॉर्क लौट आई थीं। उनके लिए संजय का प्यार खत्म हो चुका था और ऋचा यह बर्दाश्त नहीं कर पाई थीं। न्यूयॉर्क लौटने के कुछ दिन बाद ऋचा को फिर ब्रेन ट्यूमर हो गया और 10 दिसंबर साल 1996 में उनका निधन हो गया। उस वक्त संजय दत्त उनके साथ नहीं थे। अपने आखिरी पलों में ऋचा उन्हें देख नहीं पाई थीं।

वही  संजय ने अपने ऊपर लगने वालों आरोपों पर कहा था कि ऋचा के परिवार वाले उनके निजी रिश्ते में काफी दखल देते थे। उन्होंने ऋचा की बहन एना को अपना रिश्ता टूटने की सबसे बड़ी वजह बताया था। गौरतलब है कि संजय और ऋचा की एक बेटी त्रिशाला हैं जो अपने नाना-नानी के साथ रहती हैं। बता दे की संजय दत्त फ़िलहाल अपनी तीसरी अपत्नी मान्यता दत्त और अपने दो बच्चो के साथ ख़ुशी ख़ुशी रह रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here